Posts by: admin

परिचय जन्म: 1935 निधन: 18 फ़रवरी 2008जन्म: 1935 प्रकाशित कृति : पत्थर के ख़ुदा उपनाम : ‘फाकिर’  लेखन : शायरी , गीत विशेष फिरोजपुर के गुरुहरसहाय कस्बे के रत्ताखेड़ा गांव में डाक्टर बिहारी लाल कामरा के यहां जन्म लेने वाले सुदर्शन फाकिर के परिवार में दो अन्य भाई भी थे।  सुदर्शन जी ने जालन्धर के डीएवी कालेज के...

परिचय मूल नाम : सच्चिदानंद हीरानंद वात्स्यायन उपनाम : अज्ञेय जन्म : 7 मार्च 1911, कुशीनगर, देवरिया (उत्तर प्रदेश) भाषा : हिंदी, अंग्रेजी विधाएँ : कहानी, कविता, उपन्यास, निबंध, नाटक, यात्रा वृत्तांत, संस्मरण  प्रमुख कृतियाँ:  कविता संग्रह: भग्नदूत 1933, चिन्ता 1942,इत्यलम् [1946,] हरी घास पर क्षण भर [1949] बावरा...

परिचय जन्म : 13 नवंबर 1917, श्योपुर, ग्वालियर (मध्य प्रदेश)   भाषा : हिंदी   विधाएँ : कहानी, कविता, निबंध, आलोचना, इतिहास   मुख्य कृतियाँ कविता संग्रह : चाँद का मुँह टेढ़ा है, भूरी भूरी खाक धूल   कहानी संग्रह : काठ का सपना, विपात्र, सतह से उठता आदमी   आलोचना : कामायनी : एक पुनर्विचार, नई कविता का आत्मसंघर्ष, नए साहित्य का...

परिचय जन्म: 01 दिसम्बर 1916 निधन: 29 अगस्त 1998 जन्म स्थान ग्राम रोहता, आगरा, उत्तर प्रदेश, भारत कुछ प्रमुख कृतियाँ क्रौंचवध, सत्य की जीत (खंडकाव्य), दीपक, गीतगंगा,  बाल काव्य कृतियॉं : वीर तुम बढे चलो, हम सब सुमन एक उपवन के, सोने की कुल्‍हाड़ी, कातो और गाओ, सूरज सा चमकूँ मैं, माखन मिश्री, हाथी घोड़ा पालकी, अंजन खंजन,...

मृदु भावों के अंगूरों की आज बना लाया हाला, प्रियतम, अपने ही हाथों से आज पिलाऊँगा प्याला, पहले भोग लगा लूँ तेरा फिर प्रसाद जग पाएगा, सबसे पहले तेरा स्वागत करती मेरी मधुशाला।।१। प्यास तुझे तो, विश्व तपाकर पूर्ण निकालूँगा हाला, एक पाँव से साकी बनकर नाचूँगा लेकर प्याला, जीवन की मधुता तो तेरे ऊपर कब का वार चुका, आज निछावर...

जन्म: 23 सितम्बर 1908 निधन: 24 अप्रैल 1974 उपनाम दिनकर जन्म स्थान ग्राम सिमरिया, जिला बेगूसराय, बिहार, भारत कुछ प्रमुख कृतियाँ कुरुक्षेत्र, उर्वशी, रेणुका, रश्मिरथी, द्वंदगीत, बापू, धूप छाँह, मिर्च का मज़ा, सूरज का ब्याह विविध काव्य संग्रह उर्वशी के लिये 1972 के ज्ञानपीठ पुरस्कार सहित अनेक प्रतिष्ठित सम्मान...

राम नाम सब को कहै, कहिबे बहुत बिचार। सोई राम सती कहै, सोई कौतिग हार॥1॥ आगि कह्याँ दाझै नहीं, जे नहीं चंपै पाइ। जब लग भेद न जाँणिये, राम कह्या तौ काइ॥2॥ कबीर सोचि बिचारिया, दूजा कोई नाँहि। आपा पर जब चीन्हिया, तब उलटि समाना माँहि॥3॥ कबीर पाणी केरा पूतला, राख्या पवन सँवारि। नाँनाँ बाँणी बोलिया, जोति धरी करतारि॥4॥ नौ मण...

परिचय मूल नाम :  बलवंत गार्गी जन्म :4  दिसंबर 1916 विधाएँ : कविता, शायरी , अनुवादन, गीत जीवनी बलवंत गार्गी (4 दिसम्बर 1916-22 अप्रैल 2003) (पंजाबी : ਬਲਵੰਤ ਗਾਰਗੀ , बलवंत गार्गी , हिन्दी: बलवंत गार्गी , बलवंत गार्गी ) एक प्रसिद्ध पंजाबी भाषा नाटककार , रंगमंच निर्देशक, उपन्यासकार और लघु कहानी लेखक , और शैक्षणिक...